Monday, 15 October 2018

राजस्थानी समाचार...पोथी विमोचन

बीकानेर में मधु आचार्य री च्यार राजस्थानी पोथ्यां रौ विमोचन 
 बीकानेर राष्ट्रीय नाट्य विद्यालय रा अध्यक्ष डॉ. अर्जुन देव चारण बीकानेर रा धरणीधर रंगमंच मांय वरिष्ठ रंगकर्मी, पत्रकार, साहितकार मधु आचार्य 'आशावादी' री च्यार राजस्थानी पोथ्यां रौ विमोचन अदितवार सिंज्या करयौ। उण री इण पोथ्यां में उपन्यास 'आस री अमावस', कहाणी संग्रह ‘दो चोटयां आळी छोरी’, कविता संग्रह ‘सूरज री साख’ अर बाल-उपन्यास 'गुल्लू री गुल्लक' सामिल हा।
इण टांणै डॉ. चारण बोल्या क साहितकार सुखद भविष्य री  कल्पना करता थका आप रौ सिरजण करै अर मधु आचार्य भी इयांनका ही साहितकार है, जका आपरा साहित मांय लोक कल्याण री भावना ने सेंसूं ऊंची राखै। साहितकार उजास रौ आकांक्षी हुवै अर आप रै कथानक में अंतत: एक सकारात्मक भाव स्थापित करै।
अध्यक्षता करता समाजसेवी रामकिसन आचार्य ने बोल्या क साहितकार ने आम आदमी तांई साहित री पूग करण तांई लेखन में सरल सबदां ने प्रभावी तरीका सूं लिखणों चाहिजै। सरलता सूं कहयोड़ी बात घणी समझ में आवै। उणां इण बात रौ सोच करयौ क लोग आप रा जीवण मूल्य भूल रहया है।
बाल साहितकार दीनदयाल शर्मा बोल्या बड़ा लेखक टाबरां सारू नीं लिखै, पण मधु आचार्य टाबरां वास्तै लिखै अर आप री भासा मांय टाबरां वास्तै लिखणौ बड़ी बात है। 
मधु आचार्य बोल्या मायड़ भासा मांय लिखणों साहित भंडार ने सिमरध करणों हुवै। राजस्थानी अपणायत री भासा है, इण रै सेवा-भाव री जरूरत है। कवि-कथाकार नगेन्द्रनारायण किराड़ू मधु आचार्य ने आम जन री  संवेदना रै बारे में लिखण वाळा रचनाकार बताया। 
समारोह मांय राजस्थानी रा हेताळु विद्यासागर आचार्य, डॉ. नन्द किशोर आचार्य, सरदार अली परिहार, बुलाकी शर्मा, राजाराम स्वर्णकार, मदन सैनी, डॉ. मेघराज शर्मा, देवकिसन राजपुरोहित, अनिरुद्ध उमट, राजेश चुरा, सुरेश हिंदुस्तानी, इकबाल हुसैन, नीरज दइया, जेठमल सुथार, कैलाश भारद्वाज, ओम सोनी, रामसहाय हर्ष, नवनीत पांडे, इरशाद अज़ीज़, राजेश के. ओझा, जाकिर अदीब, वाली गौरी, प्रमोद चमोली,जुबेर इकबाल, अमित गोस्वामी, नामामीशंकर आचार्य, श्याम व्यास, अशोक व्यास, अनवर उस्ता आरती आचार्य, मोनिका गौड़, सीमा भाटी, ऋतु शर्मा, दिव्या अवस्थी, इंदिरा व्यास, नितिन वत्सस, राहुल जादुसंगत, जिय़ा उर रहमान, नवनीत आचार्य, गौरीशंकर प्रजापत, जगदीश अमन, संजय आचार्य वरुण, दुर्गाशंकर आचार्य, चंद्रशेखर जोशी, जनमेजय व्यास, भंवर पुरोहित आद ठावी ठौड़ बिराजै हा।
इण टांणै पोथ्यां रै पुठा रा चितरांम बणावणिया मनीष पारीक अर गौरीशंकर आचार्य रौ सम्मान कियौ गयौ। मेहमानां रौ स्वागत धीरेंद्र आचार्य अर आनंद जोशी आभार जताया। संचालन हरीश बी. शर्मा कियौ।

No comments:

Post a comment