Friday, 3 August 2018

खरी खरी

कद जागेला राजस्थानी,सीटेट में राजस्थानी कोनी
आए दिन राजस्थानी लोगां वास्ते मानता में अबखाइयां री ओछी, कूड़ी अर कोजी ख़बरां आवे, लोग उणां ने बांच अर चुप हुय जावै। खबरां में साफ ठा पड़े क राजस्थानी लोगां रा हक ने मार अर दूजा लोगां ने फायदो देवे, पण कोई बोलणियो कोनी। राजस्थानी सूं फायदो लेवण में आगीवाण रहवण वाळा केई लोग इयांका है जका भासा री संवैधानिक मानता रै नांव माथै मुंडा रै काठी पाटी बांध राखी है। राजस्थानी लोगां वास्ते नुकसान दायक बात आ है क मुंडा रै पाटी बंध्योड़ा लोग राजस्थानी रै नांव माथै राज ने चूंट अर खावे र् मानता री मांग करण वाळा मांग करता ही रह जावै।
लारलै दिनां केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड रै कांनी सूं सीटेट रै वास्ते ऑन लाइन आवेदन री प्रक्रिया बुधवार सूं सरू हुयगी। इण में 15 में सूं कोई दो भासा लेय सके। पण दुख री बात आ है क इण 15 भासावां मांय बिदेसी भासा भी है पण राजस्थानी नीं है। इण 15 में से कोई दो भाषा ले सकेला। सीटेट में सीबीएसई अंग्रेजी, हिंदी, असमी, बंगाली, गारो, मराठी, मिजो, नेपाली, उड़िया, पंजाबी, संस्कृत, तमिल, तेलुगू, तिब्बती अर उर्दू में सूं कोई दाे भासा ले सकेला। इण में राजस्थानी ने शामिल कोनी करी। अंतिम तिथि 27 अगस्त तक कोई हिम्मती नेता आवाज उठावे तो बात बण सके। पण किण ने गरज पड़ी है। मतलब राजस्थानी विषय वाळा राजस्थानी में आवेदन नहीं कर सकेला। राजस्थानी शामिल कोनी अर गारो, तिब्बती, मिजो ने संवैधानिक मान्यता कोनी फेर भी शामिल है। इन ने कहवे दुभांत।

No comments:

Post a comment