Thursday, 21 June 2018

राजस्थानियां सूं खरी खरी

राजस्थानी भासा सूं नीं कर सकेला बीएड 

सीटीईटी में पिछड़या राजस्थानी , कद आवैला चेतो

लारले दिनां मानव संसाधन विकास मंत्री प्रकाश जावड़ेकर रा नांव सूं खबर छपी क बैचलर ऑफ ऐज्यूकेशन मतलब बीएड करण वास्तै केन्द्र सरकार दो साल री ठौड़ च्यार साल रौ पाठयक्रम लागू करैला। केन्द्र सरकार रै कांनी सूं इण पाठयक्रम ने सत्र २०१९-२० सूं लागू कर दो साल री बीएड री भणाई री ठौड़ चार साल रौ एकीकृत टीचर ट्रेनिंग प्रोगाम लागू करयौ जावैला। बीटेक अर एमबीबीएस री जियां ही इण पाठयक्रम ने बणावण री त्यारी सारू इण समाचार मांय बतायौ क इण साल सूं ही नूंवी शिक्षा नीति लागू करी जावैला।

सेन्ट्रल टीचर ट्रेनिंग एलिजीबिलिटी टेस्ट मतलब सीटीईटी री परीक्षा मांय अंग्रेजी अर हिन्दी समेत केई भासावां शामिल राखीजी। सीटीईटी मांय सामिल करी भासावां मांय अंगेजी, हिन्दी, असमी, बांग्ला, गारो, गुजराती, कन्नड़, खासी, मलयालम, मणिपुरी, मराठी, मिजो, नेपाली, उडिय़ा, पंजाबी, संस्कृत, तमिल, तेलुगु, तिब्बती अर उर्दू है। इण मांय बिना संवैधानिक मान्यता वाळी दूजी भासावां तो सामिल करीजी पण सिमरध राजस्थानी भासा मांय परीक्षा हुवण री बात नीं है। इण रौ साफ मतलब तो ओ हुयौ क इण सारू राजस्थानी टाबर राजस्थानी भासा रा माध्यम सूं परीक्षा नी दे सकैला। 

ओ समाचार मायड़ भासा रा हेताळुवां सारू तो सही कोनी पण इण सूं घणों दुख इण बात सूं हुवै क इण समाचार रै छप्यां पछै राजस्थानी माणस इण रै विरोध मांय कठै ई नीं बोल्या जद क ओ समाचार मायड़ भासा राजस्थानी रा बेलियां वास्तै घणो दुखद है क राजस्थानी रा कोई हेताळु ही कोनी रहया जका मायड़ भासा बोलण वाळां सूं मन रै सुख-दुख री बात कर सकै। राज आप रा तरीका सूं ही राजकाज करैला। उणां ने इण बात सूं कोई मतलब नीं है क  इण रौ असर राजस्थानी भासा री आवण वाळी पीढ़ी माथै पड़ैला अर लोग आप री संस्करति रै सागै दूजी परम्परावां भूल जावैला। 

मायड़ भासा रा बेलियां ने इण पाठयक्रम सूं जोड़ण खातर इण रा सगळा विषयां मांय राजस्थानी ने भी सामिल करण री मांग राज रा अफसरां सूं करी जावै। इण सूं ओ तो मतलब साफ है केन्द्र सरकार मांय राजस्थानी री पैरवी करण वाळा कोई कोनी रहया। विकास रा नांव माथै आपरा घर भर अर घरवाळां ने न्याल करण वाळा अर राजस्थानी भासा री मानता वास्तै संघर्ष नीं करण वाळा, राजस्थानी भासा री मानता वास्ते नीं बोलण वाळा प्रदेस रा पचीस सांसदा रै सांमी आप-आप रा खेतर मांय लोकतंत्र रा तरीका सूं आवाज उठाओ क राजस्थानी भासा रा टाबरां ने न्याय मिल सके अर राजस्थानी री पढ़ाई सूं रोजगार रा अवसर मिल सके।

इण तरहां सूं राजस्थानी रा नांव माथै बोट बटोरण में आगीवाण रहवण वाळा नाजोगा जनप्रतिनिधियां ने धिकारता आप री असहमति जताओ क राजस्थानी सारू लारला दस सूं १५ बरसां तांही थां कित्तो काम करयौ। जै भासा री मानता सारू कीं नी करया तो इण तरह रा नाजोगा सांसदां ने आप राजस्थानी हुवण अर आप री उपस्थिति रौ अहसास कराय अर केन्द्र सरकार रा मानव संसाधन मंत्री रै कन्ने राजस्थानी ने इण पाठयक्रम मांय सामिल करण री जोरदार मांग करी जावै। 

बाबूलाल टाक राजस्थानी सौरम 9413365577

No comments:

Post a comment