Monday, 22 January 2018

परम्परावां

परकृति अर सन्सकरति रौ तिंवार
बसन्त पंचमी माघ सुदि पांचम ने मनाई जावै। बसंत पंचमी राजस्थान मांय अबूझ मोहरत मान्यो जावै। मांगळीक काम सारू इण दिन पंडित ने बिना पूछ्यां ही पूजा पाठ सूं लोग नूंवो काम सरू कर देवे। इण दिन री मानता है क ज्ञान-विज्ञान, संगीत, कला अर बुद्धि री देवी माता सरस्वती रौ जलम  दिन हुवण सूं बसंत पंचमी रै दिन लोग पीळा कपड़ा पेहरे अर देवी सरस्वती री पूजा करै। कलम दवात अर पोथ्यां री पूजा करी जावै।
लिछमी हुवे मेहरबान, हुय जावै धनवान,
सुरसत माता री मेहर, जग पूजै विद्वान।
राजस्थानी सौरम कांनी सूं आपने सरस्वती पूजा अर बसन्त पंचमी री हिवड़ेतणी सुभकामनावां।
आप रा जाण पिछाण रा लोगां ने राजस्थानी सौरम रौ लिंक भेजो या पछे 9413365577 मोबाइल नम्बर माथै वाट्सअप नम्बर भेजो।

No comments:

Post a comment