Saturday, 18 November 2017

परम्परा

अमावस ने अन्न अर धन दान री महताऊ परम्परा

सनातन परम्परा मांय हर अमावस रै दिन दान रौ विशेष महत्व बतायौ। जका लोगां में पितृदोष हुवे इण सूं उणा रा परिजन ने अनिष्टकारी घटनावां रो सामनो करणो पड़े। परवार में रोग हुए केई बार रोग री ठा कोनी पड़े। कामकाज बोपार में अवरोध,आपस में कळह, गृह कलेस, आपसी मनमुटाव रौ मुख्य कारण बडेरा पितर दोस ने मानता। उणा ने अमावस रै दिन अन्नदान करण री परम्परा ने निभाता लोग आज भी अमावस रै दिन कामकाज री छुटी राखे अर इण दिन घरां आयोड़ा मंगता ने मुंडा सूं उतर नीं देय अर हाथ सूं ही धान या धन देय'र उत्तर देवे। इण दिन दान ने विसेस महताऊ मान्यो।

No comments:

Post a comment