Monday, 9 October 2017

केबत

काचर रौ एक बीज सौ मण दूध फाड़े
बडेरा रां री केबत है क एक कुटिल आदमी बड़ा सूं बड़ो काम भी बिगाड़ देवे,ज्यूं काचर रौ एक बीज सौ मण दूध फाड़ देवे।

No comments:

Post a comment