Tuesday, 17 October 2017

राजस्थानी समचार

मारवाड़ में माटी रा दीयां री जगमग

नागौर। मारवाड़ में माटी री महक री ही चर्चा।दिवाळी माथै घी तेल रा दीयां री जगमग री परम्परा हाल तांई निभाई जावै। तिरंगा रा रंगा में रंगयोड़ा दीयां री रोशनी सूं गांव सहर रा घर जगमग हुवेला। समाज सेवी संगठनां रै कांनी सूं ठौड़-ठौड़ माथै दीया देवण रा कार्यक्रम हुवे। लोग उछब अर उमंग रै सागे सरधा सारू दीयां उपहार में देवे। परदेस भर में चीन रा उत्पाद दां रौ जम प्रो विरोध हुय रहयो है। इण परम्परा ने निभावण रौ आग्रह करता थकां सगळा रौ आभार अर घणा रंग। राजस्थानी सौरम कांनी सूं धनतेरस, रूप चवदस, दिवाळी, गोरधन पूजा अर भाईदूज री घणी-घणी मंगळकामनावां अर बधाई। जगत धिराणी संसार रौ पालण करण वाळी मां महालक्ष्मी आपने धन-धान्य अर जस सूं परिपूर्ण करें, भगवान धन्वन्तरि आपने तेज, आयु अर आरोग्य प्रदान कर आप रा पुरुषार्थ में बधापो करै।

1 comment:

  1. म्‍हारै गांव मांय इण दीवाळी घणकरां घरां मांय घी तेल रा दीया जगाया अर चाईना माल री खरीददारी नीं करी । गळियां गळियां दीवां रो जगमगावणो मनड़ो मोवै हो । टाबर आळै आळै में दिवळो जोवै हो । इण प्रकाश नें देखर हिवड़ै में हरक होवै हो । चाईना रा बिजळी रा आइटम बेचणीयो करम रै हाथ देयर रोवै हो

    ReplyDelete