Monday, 25 September 2017

उत्थलो राजस्थानी सूं हिन्दी

समै बड़ी बलवान है, नर को कै बलवान।
काबा लूटी गोपियां, बो ही अरजन बे ही बाण।


कवि कहता है कि व्यक्ति बड़ा नहीं होता है, समय ही सबसे बङा बलवान होता है। धनुषधारी अर्जुन भी वही था ओर तीर कमान भी वही थे लेकिन मामूली लोगों ने गोपियों को लूट लिया।

No comments:

Post a comment